मार्केटिंग क्या है | Marketing Meaning in Hindi [2024]

Share your love

व्यापार की दुनिया में मार्केटिंग का एक अहम योगदान हमेशा से ही रहा है। ऐसे में अगर आप बिजनेस स्टडी कर रहे हैं या किसी व्यापार  को शुरू करने में इच्छुक हैं । तो आपके लिए marketing meaning in Hindi समझना अति आवश्यक है।

मार्केटिंग क्या है ?  मार्केटिंग का अर्थ क्या है ?  मार्केटिंग कैसे काम करती है ? इस लेख का मुख्य उद्देश्य यही रहने वाला है कि आपको marketing meaning in hindi को गहराई से समझाना  तो देरी ना करते हुए  चलिए आगे बढ़ते हैं और समझते हैं कि marketing kya hai । 

मार्केटिंग क्या है? Marketing Meaning in Hindi

मार्केटिंग, उत्पादों और सेवाओं का विज्ञापन करने की एक कला या विज्ञान है, जिसका उद्देश्य ग्राहकों को प्रभावित करना और उन्हें अपने उत्पादों या सेवाओं को खरीदने के लिए प्रोत्साहित करना होता है। 

इन सब के अलावा मार्केटिंग का प्रयोग विपणन, बिक्री, ब्रांडिंग, अनुसंधान और ग्राहक संबंध और भविष्य की आवश्यकताओं के लिए किया जाता है। 

मार्केटिंग में marketing experts और companies मिलकर अपने प्रतिस्पर्धियों से अलग होने और अपने बिज़नेस की मार्किट में एक Strong Image बनाने के लिए विभिन्न रणनीतियों का उपयोग करती है।

तो अब अपने जाना Marketing Meaning in Hindi, लेकिन अब जानते है मार्केटिंग के कुछ दुसरे पहलुओं को।

मार्केटिंग की परिभाषा (Definition of Marketing)

मार्केटिंग क्या है? इसका अर्थ हम कुछ महान मार्केटिंग एक्सपर्ट से जान सकते हैं जो मार्केटिंग की परिभाषा को बड़े ही सहज रूप से प्रस्तुत करते हैं। जैसे कि : – 

“यह महत्वपूर्ण नहीं है कि आप क्या बेचते हैं, बल्कि यह मायने रखता है कि आप इसे कैसे बेचते हैं!”

– ब्रायन हॉलिगन, सीईओ और सह-संस्थापक, हबस्पॉट 

“सर्वोत्तम मार्केटिंग मार्केटिंग जैसी नहीं लगती।”

– टॉम फिशबर्न, संस्थापक और सीईओ, मार्केटूनिस्ट

“व्यवसाय के केवल दो कार्य हैं – विपणन और नवाचार।”

– मिलन कुंडेरा, लेखक और नाटककार

“अच्छी मार्केटिंग कंपनी को स्मार्ट बनाती है। बढ़िया मार्केटिंग ग्राहक को स्मार्ट महसूस कराती है।”

– जो चेर्नोव

अगर मार्केटिंग की परिभाषा से आपको मोटिवेशन मिल गया हो तो चलिए अब इस पोस्ट में आगे बढ़ते हैं और मार्केटिंग के प्रकार को जानते हैं।

Read more: Zudio से सीखें रेडीमेड कपड़े का बिजनेस कैसे करते हैं

Read more: 12 महीने चलने वाला बिजनेस किसे कहते हैं और कैसे ढूढ़ते हैं?

विपणन के 2 मुख्य प्रकार कौन से हैं? Two Main Types of Marketing in Hindi

विपणन (Marketing) के मुख्य दो प्रकार हैं: पारंपरिक विपणन (Traditional Marketing) और डिजिटल विपणन (Digital Marketing)।

1. पारंपरिक विपणन (Traditional Marketing):

पारंपरिक विपणन में टीवी, रेडियो, प्रिंट मीडिया (अख़बार, मैगज़ीन, ब्रोशर आदि), ब्रांडेड इवेंट्स (स्पोंसर्ड इवेंट्स), संदेशों को पोस्ट करने वाली वाहन (बस, रिक्शा, वैन) आदि शामिल होते हैं। इसमें दर्शकों और संभावित ग्राहकों को physical medium के माध्यम से उत्पादों या सेवाओं के बारे में बताया जाता है।

2. डिजिटल विपणन (Digital Marketing):

डिजिटल विपणन में इंटरनेट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया (वेबसाइट, सोशल मीडिया, ईमेल मार्केटिंग, वीडियो मार्केटिंग, इंफ्लुएंसर मार्केटिंग, ब्लॉगिंग, एप्लिकेशन मार्केटिंग आदि) शामिल होते हैं। इसमें उत्पादों या सेवाओं को ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्मों यानि digital medium के माध्यम से प्रचारित किया जाता है।

डिजिटल  विपणन  एयरटेल डिजिटल मार्केटिंग शब्द का पहली बार प्रयोग 1990 में किया गया था ।  और तब से लेकर अब तक डिजिटल मार्केटिंग का प्रयोग  व्यापार के क्षेत्र में सबसे अधिक किया जाता है । 

एक स्टडी के मुताबिक 2019 में लगभग 95% small businesses ने डिजिटल मार्केटिंग पर इन्वेस्ट किया था। 

लेकिन अब मार्केटिंग का क्षेत्र इतना बढ़ चुका है कि अब मार्केटिंग को विपणन के इन दो प्रकारों से परिभाषित नहीं किया जा सकता । 

इसलिए आगे हम संक्षेप में जानेंगे कि आज दौर में  मार्केटिंग के कितने प्रकार हैं ?

मार्केटिंग कितने प्रकार की होती है? Marketing Types Hindi Mein

मार्केटिंग कई प्रकार की होती है, जो व्यवसायों के उद्देश्यों और आवश्यकताओं के आधार पर अलग-अलग तरीकों से किया जाता है। प्रमुख मार्केटिंग प्रकारों में से कुछ निम्नलिखित हैं:

प्रकारसारांश
Content marketingयह मार्केटिंग प्रक्रिया है जिसमें उपयोगकर्ताओं को गुणवत्ता और मूल्य के आधार पर जानकारी और समाचार प्रदान किए जाते हैं।
Social media marketingसोशल मीडिया के माध्यम से उत्पादों और सेवाओं का प्रचार और प्रमोशन करने का काम होता है।
Direct marketingइसमें उत्पादों या सेवाओं को ग्राहकों तक सीधे बेचने और बिक्री करने का प्रयास किया जाता है।
Email marketingईमेल के माध्यम से ग्राहकों को उत्पाद और सेवाओं के बारे में सूचित किया जाता है और उन्हें प्रमोट किया जाता है।
Advertisingविज्ञापन के माध्यम से विभिन्न माध्यमों पर उत्पादों और सेवाओं का प्रचार और प्रसार किया जाता है।
Affiliate marketingइसमें साथी व्यवसायों को उत्पादों और सेवाओं की बिक्री के लिए कमीशन देने का प्रयास किया जाता है।
Social mediaसोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्मों का उपयोग करके उत्पादों और सेवाओं को प्रचारित करने के लिए युक्तियाँ बनाई जाती है।
Search engine marketingइसमें खोज इंजन (Search Engine) के माध्यम से उत्पादों और सेवाओं को प्रचारित करने का प्रयास किया जाता है।
Marketing communicationsविपणन संचार के माध्यम से ग्राहकों के साथ संवाद किया जाता है और उन्हें विपणन संबंधी सूचनाएं प्रदान की जाती हैं।
Business marketingव्यवसायों को उनके व्यापार को बढ़ावा देने के लिए उत्पादों और सेवाओं का प्रचार करने के लिए इसमें कई तकनीकें शामिल होती हैं।
Marketing strategyइसमें मार्केटिंग के लक्ष्य और उद्देश्य निर्धारित करने के लिए रणनीतियों का निर्धारण किया जाता है।
Relationship marketingग्राहकों के साथ दृढ़ संबंध बनाए रखने और उन्हें विशेष उपलब्धियों और सेवाओं से प्रोत्साहित किया जाता है।
Global marketingविदेशी बाजारों में उत्पादों और सेवाओं को प्रचारित करने के लिए विभिन्न उपाय और रणनीतियों का प्रयास किया जाता है।
Promotionउत्पादों और सेवाओं को प्रचार और प्रसार करने के लिए विभिन्न माध्यमों का उपयोग करने का प्रयास किया जाता है।
Internet Marketingइंटरनेट के माध्यम से उत्पादों और सेवाओं को प्रचारित करने के लिए विभिन्न तकनीकों का प्रयोग किया जाता है।
Direct mailडायरेक्ट मेल मार्केटिंग में सीधे मेल के माध्यम से ग्राहकों को उत्पादों या सेवाओं के बारे में सूचित किया जाता है।
Cause marketingसामाजिक और पर्यावरण कारणों को समर्थन करने और उत्पादों या सेवाओं की बिक्री में सक्रिय भागीदारी को प्रोत्साहित किया जाता है।
Online advertisingइंटरनेट पर विज्ञापनों के माध्यम से उत्पादों और सेवाओं को प्रचारित किया जाता है।
Viral marketingसोशल मीडिया और ईमेल के माध्यम से विद्युतीय साझा जाने वाले संदेशों को प्रचारित करने का काम होता है।
Digital marketingडिजिटल माध्यमों के उपयोग से उत्पादों और सेवाओं को प्रचारित करने का काम होता है।
Social marketingसामाजिक मुद्दों पर ध्यान देते हुए समाज को बदलने के उद्देश्य से उत्पादों और सेवाओं का प्रचार करने का प्रयास किया जाता है।
Services marketingविभिन्न विशेषताओं और सेवाओं के लिए विपणन रणनीतियों का प्रयास किया जाता है जिससे सेवाओं की बिक्री में वृद्धि होती है।
Personalized marketingग्राहकों की व्यक्तिगत पसंदों और आवश्यकताओं के अनुसार उत्पादों और सेवाओं को प्रचारित करने का काम होता है।
Public Relationsसंवाद एवं विचार विनिमय के माध्यम से व्यापार की प्रतिष्ठा और उच्चता को बढ़ावा देने का प्रयास किया जाता है।

डिजिटल मार्केटिंग में मार्केटिंग की कॉस्ट यानी मार्केटिंग के ऊपर आने वाला खर्चा  एक काफी गंभीर विषय बन जाता है ।  लेकिन इस समस्या का समाधान मार्केटिंग मैनेजमेंट के द्वारा निकाला जाता है ।  इसलिए मार्केटिंग है क्या  यह जान लेने के बाद यह जरूरी बन जाता है कि  मार्केटिंग मैनेजमेंट होता क्या है इसे कैसे उपयोग में लाया जाता है। 

मार्केटिंग मैनेजमेंट क्या है? Marketing Management in Hindi 

मार्केटिंग मैनेजमेंट व्यापार या संगठन के उत्पादों और सेवाओं की मांग को पूरा करने और ग्राहकों को खुश करने के लिए विभिन्न मार्केटिंग कार्यों का प्रबंधन (management) करने की एक कला है। 

इसमें उत्पाद विकास, मूल्य निर्धारण, विपणन रणनीतियां, विज्ञापन, बिक्री, ग्राहक संबंध, विश्लेषण, और उत्पाद या सेवा की प्रचार-प्रसार के लिए योजना बनाई जाती है।

मार्केटिंग मैनेजमेंट एक संगठित तरीके से काम करता है ताकि उत्पादक या विक्रेता ग्राहकों की आवश्यकताओं को समझ सके और उन्हें उनकी पसंद के अनुसार उत्पाद या सेवा का विज्ञापन कर सके। 

इसका मुख्य उद्देश्य ग्राहकों के साथ संबंध बनाए रखना, उत्पादकों के लिए बिक्री को बढ़ाना, ब्रांड नाम को प्रचारित करना, और नए बाजार और ग्राहकों को पहचानना होता है। 

मार्केटिंग मैनेजमेंट के कुछ महत्वपूर्ण कार्य निम्नलिखित हैं:

कार्यविवरण
बिक्री और उत्पाद रणनीतिविभिन्न बिक्री रणनीतियों का निर्धारण करना और उत्पाद विकास की योजना बनाना।
बाजार अनुसंधानविभिन्न बाजारों में ग्राहकों की आवश्यकताओं को समझने के लिए बाजार अनुसंधान करना।
विपणन योजना और विज्ञापनउत्पादों और सेवाओं के लिए विपणन योजना बनाना और उन्हें विज्ञापन माध्यमों के माध्यम से प्रचारित करना।
ग्राहक संबंधसंबंधनीय मार्केटिंग के माध्यम से ग्राहकों के साथ दृढ़ संबंध बनाए रखना और उनकी समस्याओं का समाधान करना।
ब्रांडिंग और पैकेजिंगउत्पादों को ब्रांडिंग और पैकेजिंग के माध्यम से पहचानना और उन्हें बेहतरीन रूप में प्रदर्शित करना।
विपणन के प्रभाव का मूल्यांकनविभिन्न विपणन पहलुओं के प्रभाव को मूल्यांकन करना और उन्हें सुधारने के लिए उपाय बनाना।

मार्केटिंग मैनेजमेंट के द्वारा उद्यमियों को विभिन्न रणनीतियों का प्रयोग करके उत्पादों की सफलता और प्रभावी विपणन को सुनिश्चित करने में मदद मिलती है।

मार्केटिंग के क्या कार्य हैं? Marketing Objectives in Hindi 

मार्केटिंग के कार्य व्यापार और उद्यमियों के लक्ष्यों को पूरा करने के लिए निर्धारित किए जाते हैं। ये कार्य व्यापार के प्रत्येक पहलू को सम्मिलित करते हैं और उत्पादों या सेवाओं के सफल प्रचारन और बिक्री के लिए योजना बनाते हैं।

बिक्री का वृद्धि करना

मार्केटिंग का एक मुख्य उद्देश्य बिक्री को बढ़ाना होता है, जिससे उत्पाद या सेवा की बिक्री में वृद्धि होती है।

ग्राहक संतुष्टि

ग्राहकों की संतुष्टि एक प्रमुख मार्केटिंग उद्देश्य होता है जो ग्राहकों के साथ दृढ़ संबंध बनाए रखने और उन्हें उत्पादों या सेवाओं का उचित उपभोग करने में मदद करता है।

ब्रांड प्रचार और पहचान

ब्रांडिंग और पैकेजिंग के माध्यम से उत्पादों या सेवाओं को पहचानी जाती है और उन्हें उचित अभिवृद्धि दिलाने में मदद करती है।

प्रतिस्पर्धा से अलग होना

व्यापार दुनिया में प्रतिस्पर्धा अधिक होती जा रही है, इसलिए मार्केटिंग के माध्यम से व्यवसाय को प्रतिस्पर्धाओं से अलग होने के लिए अभियान चलाने का काम होता है।

बाजार का अध्ययन करना

बाजार अध्ययन करके उत्पाद या सेवाओं के लिए सही निर्धारित करना कि किन बाजारों में आवश्यकता है और किस समय।

ग्राहकों को प्रोत्साहित करना

ग्राहकों को उत्पादों या सेवाओं का उपभोग करने के लिए प्रोत्साहित करना और उन्हें विशेष ऑफ़र्स और सौभाग्य प्रदान करना।

मार्केटिंग के इन कार्यों का सफल प्रबंधन व्यापार विकास और ग्राहकों के साथ संबंध बनाए रखने में मदद करता है, जिससे उद्यमी अपने लक्ष्यों को पूरा कर सकते हैं और उत्पादों या सेवाओं की सफलता को सुनिश्चित कर सकते हैं।

मार्केटिंग के 4 पी क्या है? 4 Ps of Marketing in Hindi

मार्केटिंग क्या है | Marketing Meaning in Hindi
4 P of Marketing, Image by Gyanfry.com (Article Topic: मार्केटिंग क्या है | Marketing Meaning in Hindi)

मार्केटिंग के 4 पी होते हैं जिन्हें मार्केटिंग प्रबंधन के निर्धारण के लिए उपयोग किया जाता है। ये पी उत्पाद मार्केटिंग, मूल्य निर्धारण, प्रचार, स्थान, विक्रय (बिक्री), संबंध (कस्टमर संबंध), और पर्सन (विक्रेता संबंध) को समझते हैं।

उत्पाद (Product) 

यह उत्पाद या सेवा के विकास और उसके फीचर्स, गुणवत्ता, और पैकेजिंग का निर्धारण करने के लिए उपयुक्त है।

मूल्य निर्धारण (Pricing)

इसमें उत्पाद या सेवा के मूल्य का निर्धारण किया जाता है, जिससे विक्रेता लाभ कमा सके और ग्राहकों को संतुष्टि हो।

प्रचार (Promotion)

उत्पाद या सेवा को विभिन्न माध्यमों के माध्यम से प्रचारित करने के लिए विज्ञापन और सेल्स प्रमोशन का उपयोग किया जाता है।

स्थान (Place)

इसमें उत्पाद या सेवा की वितरण रणनीति का निर्धारण किया जाता है, जिससे उत्पाद ग्राहकों तक सही समय पर पहुंच सके।

ये 4 पी मार्केटिंग मैनेजमेंट के निर्धारण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और उद्यमी को उत्पादों या सेवाओं के प्रचार-प्रसार में मदद करते हैं। Product, Price, Promotion and Place, मार्केटिंग के ये 4 P आपको याद दिलांते हैं कि मार्केटिंग क्या है और इसके मूल तत्त्व क्या है।

मार्केटिंग से आप क्या समझते हैं? मार्केटिंग का अर्थ 

तो मार्केटिंग क्या है? मार्केटिंग एक व्यापारी प्रक्रिया है जो उत्पादों या सेवाओं को ग्राहकों तक पहुंचाने और उन्हें उनकी आवश्यकताओं के अनुसार प्रभावित करने का काम करती है। 

इसमें विभिन्न मार्केटिंग उपायों का उपयोग होता है जैसे विज्ञापन, सेल्स प्रमोशन, संबंधनीय मार्केटिंग, और विपणन रणनीतियों का प्रयोग किया जाता है। मार्केटिंग का उद्देश्य ग्राहकों के मन में उत्पाद या सेवा के प्रति रुचि उत्पन्न करना होता है जिससे उन्हें उत्पाद या सेवा को खरीदने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके।

मार्केटिंग के माध्यम से उद्यमी अपने उत्पादों या सेवाओं को विभिन्न बाजारों में प्रचारित करके ग्राहकों को प्रभावित करते हैं और व्यापार के लिए लाभकारी परिणाम हासिल करते हैं। 

समाप्ति 

मार्केटिंग व्यापार और उद्यमियों के लिए एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया है जो उत्पादों और सेवाओं की बिक्री और प्रचारन के माध्यम से उद्यम को सफलता प्राप्त करने में मदद करती है। Marketing meaning in hindi, मार्केटिंग क्या है इस लेख के माध्यम से हमे मालूम पड़ता है। मॉडर्न ज़माने में डिजिटल मार्केटिंग का सर्वाधिक उपयोग होता है। डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से व्यापारी अपने उत्पादों और सेवाओं को बाजार में प्रचारित करके ग्राहकों को खींचते हैं और उन्हें उत्पाद या सेवा को खरीदने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। विगयपन के इन्ही तरीको विश्वासपूर्वक ग्राहक संबंध बनाए रखने, ब्रांडिंग, और समृद्धि के लिए व्यापारों काफी सहायता मिलती है।

Share your love
Sahil Dhimaan
Sahil Dhimaan

Hi, Sahil Dhimaan this side. I'm a passionate about entrepreneurship, startup, business, online marketing, innovative tech and online business growth.