बाप रे! अयोध्या में भीड़, OYO Rooms की हुई बल्ले-बल्ले।

Share your love

जैसा की हम सभी जानते हैं की राम भूमि अयोध्या में प्रभु श्री राम का आगमन होने जा रहा है। पूरे भारत में Ayodhya Mandir, Ram Mandir Ayodhya को लेकर काफी चर्चा हो रही है।

अयोधा मंदिर अब बनकर तैयार हो गया है, और January 22, 2024 Ram Mandir Ayodhya Launch Date है, यानी ये वो पल है जब भारत के सभी लोगों के लिए मंदिर के द्वार खुल जाएंगे। इस उपलक्ष में पूरे भारत में दूर-दूर से लोग भगवन राम के दर्शन करने अयोध्या में पहुँच रहे हैं।

लोग इतनी बाड़ी मात्रा में आयोध्या पहुँच रहे हैं की होटल्स और धर्मशालों को बुकिंग कैंसिल करनी पड़ रही है। OYO Rooms और शार्क टैंक इंडिया के जज रितेश अग्रवाल ने अभी हाल ही में अपने LinkedIn अकाउंट पर Ayodhya से जुड़ी इसी घटना को एक पोस्ट के माध्यम से शेयर किया।

stay in ayodhya oyo rooms

इस पोस्ट में रितेश ने शेयर किया की 80% ज्यादा यूजर्स इस बार stays in Ayodhya today को सर्च कर रहे है, जो OYO के CEO लिए अबतक की सबसे ज्यादा सर्च किये जाने वाली चीजों में से एक है।

OYO Rooms दरअसल एक होटल बुकिंग प्लेटफार्म है जिसकी शुरवात 2013 में रितेश अग्रवाल ने की थी और आज इनकी कंपनी World’s Third Largest Hotel Chain बन चुकी है।

2013 में, रितेश ने OYO की शुरवात गुड़गांव के केवल एक होटल से की था। लेकिन अब, OYO एक बहुत बड़ा ब्रांड बन गया हैं! कंपनी अब दुनिया भर में 800 से शहरों में हैं, जिनमें 23,000 से अधिक होटल, 850,000 कमरे और 46,000 अवकाश गृह हैं, जो वास्तव में अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं। चीन में, OYO सबसे बड़ा होटल ब्रांड हैं, जो 10,000 होटलों में 500,000 कमरों के साथ 337 शहरों में मौजूद है।

कंपनी के फाउंडर रितेश अक्सर अपने होटल से जुड़ी जानकारियां अपने सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करते रहते हैं। जैसे अयोध्या में oyo room booking के अलावा, रितेश ने अभी हाल ही में एक पोस्ट को शेयर करते हुए लिखा है की Holy Destinations यानी पवित्र स्थल भारत में मजूद सबसे ज्यादा पसंदीदा destinations बन चुकी हैं।

oyo rooms ayodhya booking

इस पोस्ट से ये भी अंदाजा लगा जा सकता है spiritual tourism भारत की Tourism Industry में अगले 5 सालों में काफी वृद्धि लाने लाने वाला है।

साल 1853 से ही अयोधा मंदिर काफी चर्चा का विषय रहा है, जब अयोध्या मुद्दे पर सांप्रदायिक हिंसा की पहली घटना दर्ज की गई थी। विवाद इस विश्वास पर केंद्रित था कि भगवान राम का जन्म बाबरी मस्जिद के केंद्रीय गुंबद के नीचे स्थित एक कमरे में हुआ था।

जमीन के इसी टुकड़े को लेकर, जहां बाबरी मस्जिद हुआ करती थी, वहां हिन्दू समाज के लोग सालों से राम मंदिर बनाने की मांग कर रहे थे। इस मुद्दे पर लगभग 170 वर्षों तक बहस होती रही। November 9, 2019 को सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले पर सर्वसम्मति से फैसला सुनाया, जिससे मंदिर निर्माण की इस मांग को स्वीकार कर लिया गया।

ayodhya raam mandir launch date and opening

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने निर्माण का पहला चरण मार्च 2020 में शुरू कर दिया था। अयोध्या के इस राम मंदिर की ख़ास बात तो ये है की इसमें तीन मंजिलें हैं और यह 380 फीट लंबा, 250 फीट चौड़ा और 161 फीट ऊंचा है।

यह मंदिर गुलाबी बलुआ पत्थर से बना है और ऊंचे पिरामिड आकार के टावरों के साथ पारंपरिक नागर शैली के मंदिर जैसा दिखता है। मंदिर भूमि के लगभग 2.77 एकड़ बड़े टुकड़े पर बनाया गया है, लेकिन पूरा मंदिर परिसर लगभग 70 एकड़ में फैला हुआ है। यह इतना बड़ा ही की एक समय पर इसमें दस लाख लोग आराम से आ सकते हैं।

ऐसे ही और कईसारी चीजें है जो इस मंदिर को ख़ास बना रहे हैं जिसे देखने के लिए अयोध्या में दूर-दूर से लोग आ रहे हैं।

Share your love
Sahil Dhimaan
Sahil Dhimaan

Hi, Sahil Dhimaan this side. I'm a passionate about entrepreneurship, startup, business, online marketing, innovative tech and online business growth.